तोक्यो। जापान के स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी केंतो मोमोता ने कहा है कि वह जब तोक्यो खेलों में ओलंपिक में पदार्पण करेंगे तो इस दौरान उनके मन में आभार जताने वाली भावना होगी। लगभग डेढ़ साल पहले मलेशिया में घातक दुर्घटना का शिकार होने के बाद वापसी करते हुए ओलंपिक मोमोता के सामने सबसे बड़ी चुनौती हैं। उस दुर्घटना में मोमोता और जापान की टीम के कई सदस्य चोटिल हो गए थे जबकि गाड़ी के ड्राइवर की मौत हो गई थी।
  दुर्घटना में दुनिया के नंबर एक पुरुष एकल खिलाड़ी मोमोता के आंख के सॉकेट में चोट लगी थी और जब उन्होंने ट्रेंनिंग में वापसी की तो उन्हें चीजें दो-दो नजर आती है जिससे उन्हें डर था कि उनका करियर खत्म हो जाएगा। मोमोता ने पिछले साल दिसंबर में कोर्ट में शानदार वापसी करते हुए जापान राष्ट्रीय चैंपियनशिप का खिताब जीता, लेकिन जनवरी में वह कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद फिर बाहर हो गए। वह मार्च में आल इंग्लैंड चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हारे, लेकिन अब पूरी तरह फिट हैं और तोक्यो में उन्हें स्वर्ण पदक का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। मोमोता ने रविवार को स्वीकार किया कि वह ओलंपिक में पदार्पण को लेकर नर्वस हैं।